क्या हैं जज बनने की पूरी प्रक्रिया, यहाँ देखें कौन बन सकता हैं जज | Judge kaise bane

WhatsApp Group Join Now

अगर आप ने अपनी बारवीं कक्षा पूरी कर ली है और अब आप लॉ के फील्ड में जाकर जज बनना चाहते है तो यह आर्टिकल आपके लिए हो सकता है। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि आप किस प्रकार से जज बन सकते है, अगर आप इस विषय के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो इस आर्टिकल को अंत तक पढ़िए।

Judge kaise bane ?

भारत में, न्यायाधीश हमारी न्यायपालिका का एक महत्वपूर्ण पद है, जिसमें उच्च न्यायालय और सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीशों को बहुत महत्वपूर्ण पद माना जाता है। यदि इस पद पर बैठे व्यक्ति की ओर से जरा सी भी चूक होती है तो निर्दोष को सजा मिल सकती है। इसलिए न्यायाधीश का पद एक बहुत ही जिम्मेदार पद है और इस पद को धारण करने वाले व्यक्ति को कानून में दक्षता होनी चाहिए। इसके साथ ही यह समझ और न्यायपूर्ण भी होना चाहिए। भारत में सर्वोच्च न्यायालय सर्वोपरि है।

किसी भी कोर्ट में जज बनने के लिए सबसे पहला कदम यह होता है कि आपके पास कानून की डिग्री होनी चाहिए। लॉ कोर्स 12वीं या ग्रेजुएशन के बाद किया जा सकता है। 12वीं के बाद आप बीए एलएलबी 5 साल का कोर्स कर सकते हैं और अगर आपने ग्रेजुएशन पास कर लिया है तो उसके बाद आप 3 साल की एलएलबी कर सकते हैं। उसके बाद आप जज बनने के लिए आयोजित होने वाली परीक्षा को क्वालिफाई करके जज बन सकते हैं। इसके लिए अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं। इसके अलावा अलग-अलग राज्यों में जज की नियुक्ति की प्रक्रिया अलग-अलग होती है।

किसी भी कॉलेज में एलएलबी कोर्स में एडमिशन लेने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि आप जिस कॉलेज या यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेने जा रहे हैं, वह कॉलेज बार काउंसिल ऑफ इंडिया से अप्रूव्ड होना चाहिए। वर्तमान में लॉ कोर्स चलाने वाले कॉलेजों और संस्थानों की कोई कमी नहीं है। लेकिन आपको किसी भी कॉमन कॉलेज में एडमिशन लेने से बचना चाहिए। क्योंकि आपका लक्ष्य जज बनना है तो किसी भी बेहतरीन लॉ कॉलेज से एलएलबी कोर्स करें।

Law Entrance Exam in India

एक अच्छे कॉलेज और एक सामान्य प्रकार के कॉलेज में बहुत अंतर होता है। प्रवेश परीक्षा पास करने के बाद ही आपको बेहतरीन गुणवत्ता वाले कॉलेज में प्रवेश मिलता है और इन कॉलेजों में शिक्षण संकाय अच्छा है। इसके साथ ही छात्रों को सभी प्रकार की आवश्यक सुविधाएं भी प्रदान की जाती हैं, जो एक सामान्य कॉलेज से संभव नहीं है। किसी अच्छे कॉलेज से आपको अच्छी नॉलेज भी मिलेगी और साथ ही आपको उचित मार्गदर्शन भी मिलेगा। ताकि आपके जज बनने की राह आसान हो जाए।

आप किसी भी नामी और नामी कॉलेज में दाखिले के लिए CLAT की परीक्षा दे सकते हैं। यह राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है। जिसके माध्यम से आपको टॉप लॉ कॉलेज में प्रवेश मिलता है। इसके अलावा अन्य राज्य स्तरीय कानून प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाती है। इनके जरिए आप किसी राज्य स्तरीय लॉ कॉलेज या यूनिवर्सिटी में दाखिला ले सकते हैं।

जैसे ऑल इंडिया लॉ एंट्रेंस टेस्ट, लॉ स्कूल एडमिशन टेस्ट, क्राइस्ट यूनिवर्सिटी लॉ एंट्रेंस एग्जाम, केरल लॉ एंट्रेंस एग्जाम, दिल्ली यूनिवर्सिटी एंट्रेंस एग्जाम, बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी एंट्रेंस एग्जाम, सिम्बोसिस लॉ एंट्रेंस एग्जाम इसके अलावा भी कई अन्य स्टेट लेवल एंट्रेंस एग्जाम होते हैं। हुह। जिसके माध्यम से आप लॉ कोर्स में प्रवेश ले सकते हैं। लॉ कोर्स की फीस की बात करें तो इसकी फीस 5 हजार से 1 लाख रुपये प्रति वर्ष तक हो सकती है। सरकारी कॉलेजों में फीस कम और प्राइवेट कॉलेजों में फीस बहुत ज्यादा है।

जज बनने की आपकी राह थोड़ी कठिन हो सकती है, इसके लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी। इसके साथ ही सबसे पहले आप यह तय कर लें कि आपको हाई कोर्ट, सुप्रीम कोर्ट या डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में जज बनना है या नहीं। जजों की नियुक्ति कोर्ट के आधार पर ही होती है और सभी के चयन की प्रक्रिया भी अलग होती है।

Judge के लिए क्या योग्यता चाहिए?

जज बनने की योग्यता की बात करें तो इसके बारे में हमने नीचे बताया है,

  • उम्मीदवार भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • जज बनने के लिए अधिकतम उम्र 62 साल होनी चाहिए।
  • आवेदक को कानून की अच्छी समझ और ज्ञान होना चाहिए।
  • आवेदन करने वाले व्यक्ति को एलएलबी डिग्री कोर्स करना चाहिए था।
  • उम्मीदवार को लगातार दस वर्षों तक किसी भी सुप्रीम कोर्ट में वकील के रूप में काम करना चाहिए था।

Judge की सैलरी

जूनियर सिविल जज की सैलरी 45 हजार और सीनियर जज की सैलरी करीब 80 हजार रुपये प्रतिमाह है।वेतन राज्य के अनुसार भिन्न हो सकता है। यदि न्यायाधीश उच्च न्यायालय का है, तो न्यायाधीश का वेतन 2.50 लाख रुपये है, जबकि उच्च न्यायालय के अन्य न्यायाधीशों का वेतन 2.25 लाख रुपये प्रति माह है। सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश का वेतन 2.80 लाख रुपये और अन्य न्यायाधीशों का वेतन 2.50 लाख रुपये है।

WhatsApp Group Join Now

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *